Breaking News

Akhand Bharat

संदिग्ध परिस्थिति में विवाहिता की मौत,जांच में जुटी पुलिस






 मनियर बलिया ।  कस्बे के बड़ी बाजार वार्ड नंबर 9 में एक नव विवाहिता ने संदिग्ध परिस्थितियों में सोमवार को फांसी के फंदे पर झूल कर मौत को गले लगा लिया।  सूचना पर पहुँची पुलिस ने  पहले विवाहिता के परिजनो को सुचना देने के  साथ ही उच्चाधिकारीयो को अवगत कराया। घटना के बाद मौके पर पहुंची नायब तहसीलदार बाँसडीह व  सीओ बाँसडीह  की मौजुदगी मे शव को कब्जे मे लेकर अन्यत्र परिक्षण के लिए जिला मुख्यालय पर भेजा गया  । वही मायके पक्ष की तहरीर पर पुलिस तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है ।

बताया जाता है कि श्रवण कुमार  मनियर नगर पंचायत के वार्ड नंबर 9 का निवासी है व  नगर पंचायत कार्यालय में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत व नगर पंचायत अध्यक्ष का भतीजा भी बताये जा रहे  है । बताया जाता है कि सोमवार की सुबह जब श्रवण  शौच के लिए शौचालय गया था व श्रवण के माता पिता नवका बाबा मंदिर पर दर्शन पूजा करने के लिए गए थे। इसी बीच मौका पाकर नेहा ने घर में लगे हुक में दुपट्टा बांध कर अपनी इह लीला समाप्त कर लिया। मौके पर पहुंचे नेहा के पिता ने थाने में दिए गए तहरीर में कहा है कि  मनोज गुप्ता निवासी मोहम्मदपुर थाना भीमपुरा न०1  अपनी पुत्री नेहा गुप्ता  22 की शादी 8 दिसंबर 2020 को मनियर वार्ड नंबर 9 के निवासी शिवजी गुप्ता के पुत्र श्रवण कुमार  के साथ किया था।  मेरी पुत्री से  एक लाख रुपए  दान दहेज की मांग अक्सर लड़के  के परिजन बार-बार  करते थे । जिसको लेकर आए दिन हमारे पुत्री को प्रताड़ित एवं मारपीट करते थे। समझौते के लिए मैं कई बार अपने रिश्तेदारों के साथ मनियर गया लेकिन परिवार के लोगों ने नहीं सुनी। आज सोमवार को सुबह मेरे यहां फोन गया कि आपकी लड़की ने फांसी लगा लिया है तो मौके पर मैं पहुंचा देखा कि मेरी पुत्री के शरीर पर कोई चोट के निशान हैं एवं मृत पड़ी हुई है। विवाहिता ने फांसी को क्यों गले लगाया यह तो जांच का विषय है। 

मायके पक्ष की उपस्थिति में सीओ बाँसडीह राजेश तिवारी एवं नायब तहसीलदार अंजू यादव, एसएचओ मनियर आरआर यादव की मौजूदगी में शव का पंचनामा करके  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस मृतका के सास, ससुर एवं पति को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।घटना के बाद मृतका के मायके पक्ष के लोग काफी आक्रोशित दिखे ।पुलिस ने उन्हें समझा-बुझाकर किसी तरह शांत कराया।


प्रदीप कुमार तिवारी

No comments