Breaking News

Akhand Bharat

श्रीलक्ष्मी नारायण महायज्ञ की जल यात्रा का मार्ग निर्धारित, शामिल होंगे यूपी बिहार के हज़ारों श्रद्धालु

 


दुबहर बलिया। भारत के महान मनीषी संत श्री लक्ष्मी प्रपन्नाचार्य जीयर स्वामी द्वारा किए जा रहे चातुर्मास व्रत सह लक्ष्मी नारायण महायज्ञ कलश यात्रा का शुभारंभ आगामी 4 अक्टूबर को 11:00 बजे दिन से प्रारंभ होगा जिसका रूट यज्ञ समिति ने निर्धारित कर दिया है। जिसके क्रम में कलश यात्रा हाथी, घोड़ा, बैंड बाजा के साथ यज्ञ स्थल से एनएच-31 शिवपुर दियर नई बस्ती होते हुए अखार,नगवा, श्रीरामपुर सरसपाली, काशीपुरा कदमचौराहा के बाद महर्षि भृगु मंदिर होते हुए रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी। उसके बाद विष्णुपुर चौराहा होते हुए कलश यात्रा पुलिस चौकी से शहीद पार्क चौक होते हुए  चमन सिंह बाग रोड होते हुए शनिचरी मंदिर से घनश्याम नगर रोड होते हुए रिंग बांध से मिश्र नेवरी, जमुआ, तिवारी छपरा, टेकारी, ओझा डेरा, माधव मठ, बंधुचौक, नगवा होते हुए जनारी  चौराहा से जनवरी चौराहा से दाहिने तरफ होते हुए जनेश्वर मिश्र गंगा सेतु के पूर्व बेयासीघाट पर पवित्र पावन मां गंगा के पावन तट पर वैदिक मंत्रोचार द्वारा मां गंगा का विधिवत पूजन व आरती के बाद श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ की जल भरी होगी।बेयासीघाट से जल भरी के उपरांत सभी भक्तजन श्रद्धालु जन यज्ञ स्थल के लिए प्रस्थान करेंगे। इस बीच जगह-जगह कलश यात्रियों के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं ने पेयजल की व्यवस्था भी किए हैं।

रिपोर्ट:- नितेश पाठक

No comments