Breaking News

Akhand Bharat

अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है घोड़हरा गांव का रास्ता




दुबहर। क्षेत्र के घोड़हरा ढाला से घोड़हरा नई बस्ती तक लगभग एक किलोमीटर आरसीसी की बनी मुख्य सड़क की स्थिति बद से बदतर होने के कारण लोगों के आवागमन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विदित हो कि ग्रामीण पेयजल योजना के अंतर्गत घोड़हरा एवं जनाड़ी गांवों  में जलापूर्ति के लिए कोठिया मौजा में बड़ी पानी टंकी का निर्माण किया गया है। जहां से लगभग दो माह पहले ही मुख्य सड़क के बाई तरफ बनी नाली को तोड़कर लगभग चार से पांच फीट गहरा एवं लगभग तीन से चार फीट चौडा आरसीसी सड़क की खुदाई कर पाइप बिछाने का कार्य किया गया। पाइप बिछाने के बाद गड्ढे को जैसे-तैसे भरकर छोड़ दिया गया। जैसे-तैसे गड्ढा भरने से सड़क के बाईं तरफ मेढ़नुमा बन गया है। जिसके कारण थोड़ी सी बरसात होने पर भी कीचड़युक्त एवं आसपास के लोगों के घरों का गंदा पानी सड़क पर जाम हो जाता है। जिसके कारण आवागमन बाधित हो गया है। लोग रास्ता बदल-बदल कर आना जाना कर रहे हैं। पाइप बिछाने वाले संबंधितों द्वारा सड़क पर बनी नाली भी तोड़ देने के कारण घरों का गंदा पानी एवं बरसात का कीचड़युक्त पानी सड़क पर जमा होकर लोगों के घरों में घुस रहा है। जिसकी सुधि लेने वाला कोई नहीं है। इस जर्जर सड़क मार्ग से आने-जाने वाले लोग आए दिन गिरकर चोटिल हो रहे हैं। इसी मुख्य सड़क मार्ग से कम्पोजिट विद्यालय घोड़हरा, एसजी पब्लिक स्कूल अड़रा की स्कूली छात्र-छात्राएं एवं भरसर उप डाकघर के ग्राहक आना-जाना करते हैं। गौरतलब है कि घोड़हरा ढाला से घोड़हरा नई बस्ती तक लगभग एक किलोमीटर की यह सड़क पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत आती है। इस मुख्य सड़क के बीचोबीच घोड़हरा दैनिक बाजार लगता है। जहां पर आसपास के कई गांवों के लोग सब्जी खरीदने तथा बाजार करने आते हैं। इस मुख्य सड़क से ही आंशिक दुबहड़, यादव डेरा, बिसेनी डेरा, शिवपुर, चंदवक, दुधी पुर, अकबर पुर, बेलाडीह, जमुनइया, रामपुर बोहा, पिपरा आदि गांवों के लोग आवागमन करते हैं।


रिपोर्ट:- नितेश पाठक

No comments