Breaking News

Akhand Bharat

बलिया में 18 सिंतबर से 26 सिंतबर तक चलेगा अभियान पल्स पोलियो अभियान

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह


- 856 टीमें घर-घर जाकर पिलाएंगी ‘दो बूंद ज़िंदगी की’  


बलिया : जनपद में आगामी 18 सितम्बर से पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा, जो कि  26 सितम्बर तक चलेगा। इस अभियान के तहत जन्म से पाँच वर्ष तक के 4.50 लाख सम्भावित बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० जयंत कुमार ने  दी। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इस चरण के लिए जिले भर में 1601 बूथ बनाए गए हैं जिसके माध्यम से 18 सिंतबर को बूथ स्तर पर पोलियो अभियान चलाया जाएगा। अभियान के तहत 856 टीमें और 90 मोबाइल टीम भी बनाई गई हैं  जो 19 से 25 सिंतबर 2022 तक घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का काम करेंगे।अन्य टीम 'बी' 26 सिंतबर को भी पोलियो ड्रॉप पिलाएगी। पल्स पोलियो के कार्यक्रम को सकुशल सम्पन्न करने के लिए एएनएम, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता इसमें सहयोग करेंगी।

उप जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ शशि प्रकाश ने बताया कि पोलियो की दवा पाँच वर्ष से कम उम्र के सभी बच्चों के लिये आवश्यक है। यह दवा जन्म पर, छठे, दसवें व चौदहवें सप्ता्ह में फिर 16 से 24 माह की आयु में बूस्टर की खुराक दी जानी चाहिए। पाँच वर्ष तक की आयु के बच्चों को बार-बार खुराक पिलाने से इस बीमारी से लड़ने की क्षमता बढ़ती है जो पोलियो के विषाणु को पनपने से रोकती है। उन्होंने बताया कि पोलियो या पोलियोमेलाइटिस एक गंभीर और खतरनाक बीमारी है। पोलियो वायरस से होता है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है। साथ ही यह वायरस जिस भी व्यक्ति में प्रवेश करता है उसके मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाता है जिसकी वजह से लकवा भी हो सकता है।

No comments