Breaking News

Akhand Bharat

जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय में हुआ वेबिनार का आयोजन

 







रिपोर्ट : धीरज सिंह


बलिया।  संयुक्त राष्ट्र संघ के 77 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में  जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के हजारी प्रसाद द्विवेदी अकादमी भवन में राजनीति विज्ञान विभाग द्वारा वेबिनार  का आयोजन किया गया । जिसका विषय "संयुक्त राष्ट्र संघ में सुधार एवं भारत का रुख" पर विस्तार से चर्चा हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ  कुलपति  प्रोफ़ेसर कल्पलता पाण्डेय  के द्वारा किया गया। उन्होंने  भारत के वसुधैव कुटुंबकम् के दर्शन की प्रासंगिकता की चर्चा करते हुए संयुक्त राष्ट्र की अवधारणा को इस पर ही आधारित होने की बात कही । प्रोफेसर संजय श्रीवास्तव राजनीति विज्ञान विभाग, बीएचयू  को मुख्य अतिथि के रूप मे आमंत्रित किया गया। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र विश्व राजनीति में एक छतरी के समान है और विश्व समाज में बदलाव के साथ ही इसमें बदलाव लाया जा सकता है। भारत की सदस्यता की मांग को लेकर  अपना समर्थन और कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर अपना विचार केंद्रित किया। उन्होंने सुरक्षा परिषद के साथ-साथ अन्य बाकी अंगों में सुधार के महत्व पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम का संचालन एवं संयोजन डॉ अनुराधा राय सहायक आचार्य, राजनीति विज्ञान विभाग ने किया। चर्चा को आगे बढ़ाते हुए डॉ राय ने संयुक्त राष्ट्र संघ के उदय और उसके उद्देश्य के बारे में बात करते हुए बदलती वैश्विक परिदृश्य में इसमे सुधार की चर्चा की। डॉ राय ने संयुक्त राष्ट्र में भारत की भूमिका के बारे में बात की और सुरक्षा परिषद् में भारत की प्रबल दावेदारी की ओर संकेत करते हुए कहा कि भारत की अंतराष्ट्रीय परिदृश्य में साख है जो उसके सुरक्षा परिषद की सदस्यता के लिए सकारात्मक है। डॉ रजनी चौबे  ने संघ की स्थापना से लेकर अब तक के संपूर्ण चुनौतियों पर प्रकाश डाला।

डॉक्टर छबि लाल, सहायक आचार्य ने समस्त महानुभावों और छात्र छात्राओं को धन्यवाद ज्ञापित किया ।

इस अवसर पर निदेशक शैक्षणिक डॉक्टर पुष्पा मिश्रा, एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर प्रियंका सिंह, एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर अजय कुमार चौबे, डॉ मनोज कुमार, डॉ विजयशंकर पाण्डेय, डॉ रामशरण, डॉ नीरज सिंह, डॉ संजीव कुमार, डॉ प्रेम भूषण समस्त छात्र छात्राएं सहित अन्य बुद्धिजीवी लोग उपस्थित रहे।

No comments