Breaking News

Akhand Bharat

विवाद था रास्ते का, मूर्ति बीच रास्ते में रखकर अनशन पर बैठे लोग

 






रतसर (बलिया)। गड़वार थाना क्षेत्र के ग्राम सभा सिकटौटी के चाफी मौजा में रास्ते के विवाद को लेकर बीच रास्ते में कमेटी के सदस्यों ने मुर्ति रख दी और अनशन पर बैठ गए।  सूचना पर पहुंची राजस्व विभाग की टीम एवं प्रशासन ने कमेटी के सदस्यों से बात कर मुर्ति को पंडाल में स्थापित करा दिया। 

बताते चले कि विगत एक दशक पूर्व से सिकटौटी गांव के चाफी मौजा में दूर्गा जी की मुर्ति स्थापित कर पूजा करते आ रहे है। इस साल भी आयोजकों ने मुर्ति रखने की अनुमति शासन से ले लिया था। रविवार की सुबह पिकअप में रखकर मुर्ति आयोजन स्थल पर ले जा रहे थे लेकिन गांव के ही बीर बहादुर यादव,राम बहादुर यादव,बब्बन आदि ने बांस-बल्ली से अपने दरवाजे पर घेराबन्दी कर रास्ता बन्द कर दिया था। जिसके कारण मुर्ति इन लोगों के दरवाजे के सामने ही रुक गई। इसकी तत्काल सूचना आयोजकों ने पुलिस प्रशासन एवं राजस्व विभाग को दिया। सूचना मिलते ही मौके पर राजस्व विभाग की टीम के साथ ही एसओ गड़वार राजकुमार सिंह,चौकी प्रभारी गिरिजेश सिंह,नायब तहसीलदार संत विजय सिंह,कानूनगो लालबहादुर यादव एवं क्षेत्रीय लेखपाल के साथ ही बड़ी संख्या में फोर्स पहुंचकर मौके से बांस-बल्ली को हटाकर पंडाल में मुर्ति स्थापित करा दी। एसओ गड़वार राजकुमार सिंह ने बताया कि जिस रास्ते से मुर्ति पंडाल स्थल पर स्थापित की गई है उसी रास्ते से विसर्जन भी किया जाएगा। इसमें किसी प्रकार का कोई व्यवधान उत्पन्न करेगा तो प्रशासन सख्ती के साथ पेश आएगा। घटना को लेकर सुबह से ही दोनो पक्षों में तनाव था। मौके पर ग्राम प्रधान परमात्मा नन्द,पूर्व प्रधान कृपाशंकर तिवारी,मुकेश सिंह,मन्नू यादव,मुन्नीलाल यादव,नरसिंह चौहान आदि लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments