Breaking News

Akhand Bharat

मां काली के उपासक रामबदन भगत द्वारा दी गई औषधियों से ठीक हुईं पथरी की बीमारी

 





मां काली के उपासक रामबदन भगत द्वारा दी गई औषधियों से ठीक हुईं पथरी की बीमारी 





बलिया। उत्तर प्रदेश के बलिया जिले की रेवती कस्बा निवासी रेनू देवी पत्नी शेषनाथ साहनी की कहानी कुछ अलग है। पथरी की बीमारी से ग्रसित इस महिला ने उपचार के लिए दिल्ली, वाराणसी, अहमदाबाद समेत इलाकाई अस्पतालों के डॉक्टरों के यहां खूब चक्कर लगाए, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ। अलबत्ता मर्ज दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा था। कुछ डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर पथरी निकलने की बात जरूर कही, लेकिन रेनू ऑपरेशन करने की स्थिति में नहीं थी।



रेनू बताती हैं की बीमारी की पीड़ा से वह रोज घुट घुट कर मरने लगी। पीड़िता रेनू बताती है कि इसके बाद तो मानों उनकी दुनिया ही वीरान हो गई। ना उन्हें कुछ भाता और ना ही कुछ अच्छा लगता, इसी बीच उसकी रिश्तेदार ने पकड़ी धाम की काली मां के मंदिर में जाने की नसीहत दी।  फिर वह अपने पति के साथ पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर पहुंची और मंदिर के पुजारी रामबदन भगत से अपनी व्यथा बताई।




 मां काली के अनन्य उपासक रामबदन भगत ने पहले उन्हें मां का प्रसाद दिया और कुछ औषधियों  को देते हुए उसके  नियमित सेवन करने की बात कही।  मां काली के आशीर्वाद और औषधियों के नियमित सेवन से अब वह पूरी तरह से ठीक हो गई हैं और अपना सामान्य जीवन जी रही हैं।










 


डेस्क

No comments