Breaking News

Akhand Bharat

इस बार मकर संक्रांति पर बन रहा खास योग, जानिए शुभ मुहूर्त और महत्व


 मकर संक्रांति पर विशेष

--------------------------






रतसर (बलिया):मकर संक्रांति का पर्व देशभर में विभिन्न तरीके से मनाया जाता है। साल का पहला पर्व के रुप में मकर संक्रांन्ति होती है। इसके साथ ही खरमास समाप्त हो जाते हैं और शादी-विवाह,मुंडन,छेदन जैसे मांगलिक और शुभ काम होना शुरू हो जाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन स्नान के साथ दान करना काफी शुभ माना जाता है। इस दिन ऐसा करने से पापों से मुक्ति मिलने के साथ पुण्य की प्राप्ति होती है। इस बार हिन्दू धर्म का प्रमुख पर्व मकर संक्रांति का शुभ योग 15 जनवरी,रविवार को पड़ रहा है। जिसके चलते प्रसिद्ध धार्मिक नगरी भृगु क्षेत्र समेत पूरे जनपद में भगवान सूर्यदेव को समर्पित ये पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। इस दिन गंगा तट पर श्रद्धालुओं द्वारा सुबह 4 बजे से देर शाम तक स्नान,दर्शन,पूजन का दौर चलता रहेगा। इस दौरान नगर के मंदिरों में विविध धार्मिक अनुष्ठान होगें वहीं खिचड़ी वितरण का दौर भी चलता रहेगा। अध्यात्मवेत्ता पं०भरत जी पाण्डेय ने बताया कि इस बार मकर संक्रांति का शुभ संयोग 15 जनवरी को पूरे दिन मिल रहा है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस बार सूर्यदेव 14 जनवरी शनिवार को रात्रि 02.53 मकर राशि में प्रवेश करेगें। धर्मसिन्धु और निर्णय सिन्धु के आधार पर ऐसी मान्याता है कि जब सूर्य शाम को मकर राशि में प्रवेश करते है या संक्रांति का योग शाम को सूर्यास्त के बाद प्रारंभ होता है तो अगले दिन स्नान दर्शन और पूजन की मान्यता होती है।

--------------------

पुण्यकाल व मुहूर्त का समय :

मकर संक्रांति का पुण्यकाल मुहूर्त 15 जनवरी को सुबह 06.42 मिनट पर शुरू होगा और इसका समापन शाम 05.18 मिनट पर होगा। वहीं महापुण्य काल सुबह 07.15 मिनट से सुबह 09.06 मिनट तक रहेगा। उदया तिथि के अनुसार पुण्यकाल और महापुण्यकाल में स्नान-दान करना शुभ होता है। इस दिन अभिजित मुहूर्त दोपहर 11.56 मिनट से लेकर 12.38 मिनट तक रहेगा वहीं विजय मुहूर्त इस दिन दोपहर 02.16 मिनट से लेकर दोपहर 02.58 मिनट तक रहेगा।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments