Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

बकरीद के त्यौहार पर मुस्लिमो ने अदा की नमाज, भारी पुलिस बल रही तैनात

  



मनियर, बलिया । क्षेत्र में बकरीद का त्यौहार सोमवार मुस्लिम भाईयो ने धुम धाम से मनाया निर्धारित समय पर 16 जगहो पर नमाज की अदा के बाद बकरीद का त्यौहार मनाई गयी हर जगहो पर पुलिस बल तैनात रही । बताया जाता है   इस्माल धर्म में बकरीद का त्यौहार  बहुत खाश माना जाता हैं. मुस्लिम समुदाय के लोग बकरीद  के आने का बेसब्री से इंतजार करते हैं.  इस पर्व को ईद-उल-अजहा को इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इस दिन मुसलमान लोग बकरे या भेड़ की कुर्बानी करते हैं.  इसके अलावा बकरीद पर मस्जिदों और घरों को सुंदर तरीके से सजाया जाता है और लोग मस्जिदों में जाकर सामूहिक नमाज अदा करते हैं.  बकरीद का मुख्य मकसद अल्लाह के प्रति पूर्ण समर्पण का सम्मान और स्मरण करना है । 

कहा जाता हैं की एक हजरत इब्राहिम ने एक सपना देखा था की वह  अपने बेटे की कुर्बानी दे रहे थे. वे खुदा पर बहुत विश्वास करते थे. उन्होंने इस सपने को खुदा का पैगाम माना और इसे पूरा करने का निर्णय लिया. हजरत इब्राहिम ने खुदा के लिए अपने बच्चे को कुर्बान करने का फैसला लिया. उनकी इबादत को देख खुदा ने उनको अपने बेटे की जगह एक जानवर की कुर्बानी देने को कहा. खुदा के इस आदेश को हजरत इब्राहिम ने बेटे की क़ुरबानी न देकर अपने चहेते मेमन की कुर्बानी दी. इसलिए बकरीद पर कुर्बानी की जाती हैं. तभी से  इस पर्व पर मुस्लिम समुदाय के लोग बकरे की कुर्बानी करते हैं ।


प्रदीप कुमार तिवारी

No comments