Breaking News

जाने कहा हुई व्यापारियों व मंडी सचिव में नोकझोंक





चितबड़ागाव, बलिया। स्थानीय मंडी समिति के भीतरी परिसर व बाहर की चाहरदीवारी पर हुए अतिक्रमण हटाए जाने की नोटिस पर व्यापारियों व मंडी सचिव से गुरूवार को पुरे दिन नोंक झोंक के बाद देर शाम अंतोगत्वा निकल पाया हल। निर्णय के अनुसार शासन के निर्देश का पालन भी होगाऔर व्यापारी भी नहीं हटाए जाएगें।
लिए गए निर्णय के अनुसार जो टिन सेड, गुमटिया व टेंट डालकर अतिक्रमण किए थे मात्र इन्हीं को हटाया जाएगा।
जानकारी के अनुसार चितबड़ागाव मंडी परिसर में बर्षों से थोक व फुटकर व्यापारियों द्वारा टिन सेड व गुमटिया तथा पक्के निर्माण कर व्यवसाय किया जा रहा था। एक सप्ताह पहले शासन के निर्देश पर मंडी सचिव शशि प्रकाश द्वारा सभी अतिक्रमण किए व्यापारियों को 8फरवरी से पहले अतिक्रमण हटा लिए जाने की नोटिस जारी किया गया था। जिस पर व्यापारी लामबंद होकर पुर्व चेयरमैन बृजकुमार सिंह के नेतृत्व में गुरुवार अपनी पीड़ा सुनाने मंडी समिति कार्यालय पहुंचे। दोनों पक्षों के बीच काफी नोंक -झोंक हुईं। व्यापारी किसी किमत पर अतिक्रमण हटाने के पक्ष में नहीं थेऔर उनकी मांग थी कि कड़ी- धुप व वारिस में हम अपना सामान  सुरक्षित या हम खुद कहां रहेंगे? मंडी सचिव का कहना था कि सभी थोक विक्रेता के लिए मंडी परिसर में जो सेड बना है उसमें चले जाय व फुटकर व्यापारी अपनी झोपड़ी व गुमटिया हटाकर उसी स्थान पर तब तक अपना सामान बेचेंगे जब तक मंडी समिति कोई उचित व्यवस्था नहीं दे दे।
 काफी मशक्कत के बाद व्यापारी अपना अतिक्रमण हटाने को राजी हुए। व्यापारियों के नेतृत्व करने वाले पुर्व चेयरमैन बृजकुमार सिंह के साथ कलाम राइन, जैनुल्लाह, सफरुलाह, सहादत, तौहीद, हरिनारायण, गोपाल सरल, मुन्ना आदि सैकड़ों व्यापारी रहे।




रिपोर्ट : बिकास सिंह

No comments