Breaking News

> > >

सनबीम की अनूठी पहल: जूम एप्प से शुरू हुई आनलाइन पढ़ाई



बलिया: सामाजिक फासला और सामाजिक समरसता के बीच सनबीम स्कूल बलिया द्वारा जनपद के सभी छात्रों के लिए शिक्षा की निरंतरता बनाए रखने में एक अनूठा प्रयास किया गया है।

आज पूरा विश्व जहाँ कोरोना महामारी के वैश्विक संकट से जुझ रहा है और देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है वहीं छात्रों का शिक्षण कार्य भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ऐसे में लाॅक डाउन और सामाजिक दूरी के नियमों को दृष्टिगत रखते हुए सनबीम विघालय प्रबंधन एवं शिक्षकों द्वारा जनपद के सभी छात्रों के लिए, चाहें वे जनपद के किसी भी विघालय से क्यों न हों उन सभी के लिए 26 मार्च 2020 से ही कक्षा - नर्सरी से 12 वीं तक की "जूम एप" द्वारा आनलाइन   विषयवार कक्षाएं आयोजित की जा रही है। विघालय के शिक्षकों द्वारा प्रतिदन 3 घंटे निर्बाध रूप से कक्षाएं संचालित की जा रही है।


सनबीम स्कूल बलिया के निदेशक डाॅ० कुँवर अरुण सिंह ने बताया कि इस विषम परिस्थितियों में जहाँ हमें एक साथ मिलकर सरकार द्वारा जारी सोशल डिस्टेनसिंग के निर्देशों का पालन करना है वहीं छात्रों का शिक्षण कार्य बाधित ना हो उसका भी ख्याल रखना है। सनबीम विघालय परिवार हमेशा से ही शिक्षा की गुणवत्ता और प्रगतिशील शिक्षा को बनाए रखने के लिए पूरी निष्ठा से प्रतिज्ञाबद्ध रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में अपने बहुमुखी योगदान को बनाए रखते हुए विघालय परिवार द्वारा सब पढें सब बढ़ें और भारत सरकार के उपक्रम मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय* के गाइड लाइन को दृष्टिगत रखते हुए डिजिटल शिक्षा अर्थात आनलाइन शिक्षा को सभी तक पहुंचाने का भगीरथ प्रयास किया है।

बलिया जनपद के उन सभी छात्रों, जो अपनी शिक्षा की निरंतरता और गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए इच्छुक और कटिबद्ध है उन सभी के लिए विघालय द्वारा अपने फेसबुक पेज पर *Sunbeam School ballia* , विघालय के सभी शिक्षकों की कक्षावार *जूम आईडी एवं पासवर्ड* साझा किया गया है ताकि जनपद के समस्त छात्र विघालय के इस अद्वितीय कदम का लाभ उठा सकें।


विघालय के निदेशक डॉ ० कुँवर अरुण सिंह का मानना है कि इस अप्रत्याशित संकट की समय सीमा अनिश्चित है ऐसे में लाॅक डाउन और कोरोना महामारी से उबरने तथा शिक्षण कार्य का फिर से सुचारू रूप से पटरी पर लौटने में और कितना अधिक समय लग सकता है कुछ भी कहना सम्भव नहीं है। अनिश्चितता के इस वातावरण में हमारे छात्र शिक्षा से तो वंचित हो ही रहें हैं साथ ही स्कूल ना जा पाने की स्थिति में उनकी दैनिक दिनचर्या भी बाधित हो रही थी। ऐसे में एक निश्चित समय पर प्रतिदन विषयवार कक्षाएं संचालित कराए जाने से छात्र अपने शैक्षणिक दिनचर्या में वापिस लौट सकेंगे।

हालांकि डाॅ० सिंह का यह भी मानना है कि अब तक विघालय परिवार और अभिभावकों द्वारा भरसक प्रयास किया जाता रहा है कि छात्रों को मोबाइल फोन की लत से दूर रखा जाए। परन्तु, अब जब सामाजिक सम्पर्क के सारे रास्ते बंद हो चुके हैं ऐसे में शिक्षा की निरंतरता को बनाए रखने मे मोबाइल ही वह क्रांति ला सकती है जिससे सोशल डिस्टेनसिंग का पालन भी सुनिश्चित हो सके और शिक्षा के प्रसार को भी थमने ना दिया जाए।
अतः आप अभिभावकों से भी अनुरोध है कि अपने फेसबुक अकाउंट के माध्यम से हमारे पेज *Sunbeam ballia* से जुड़कर आपके बच्चों तक बाधा रहित शिक्षा उपलब्घ कराने की सनबीम स्कूल बलिया की मुहीम का महत्वपूर्ण हिस्सा बने। आपकी सहभागिता से ही शिक्षकों द्वारा पूर्ण मनोयोग एवं रुचिकर तरीके से सम्पादित की जा रही कक्षाओं का लाभ छात्रों को सम्पूर्ण रुप से मिल सकेगा।

घर पर रहें, सुरक्षित रहें l



रिपोर्ट धीरज सिंह





No comments