Breaking News

गुड़ न्यूज़:अब कोरोना रोगियों का इलाज करेगी ये दवा




   

नई दिल्ली। देश में बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) रोगियों के इलाज के लिए एंटीवायरल ड्रग फेवीपिरवीर (Favipiravir) के प्रतिबंधित उपयोग को मंजूरी दी है। बाजार में जल्द ही यह दवा नए नाम के साथ उपलब्ध होगी। कोरोना मरीजों के इलाज के लिए ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने एंटीवायरल फेवीपिरवीर ड्रग को फैबिफ्लू ब्रांड के नाम से पेश किया है। यह दवा कोविड-19 के मामूली रूप से पीड़ित रोगियों के इलाज में मददगार साबित होगी।

जल्द बाजार में उपलब्ध होगी दवा

शुक्रवार को ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने बताया कि उसे फेवीपिरवीर दवा के इस्तेमाल को डीसीजीआई से मंजूरी मिल गई है। शनिवार को कंपनी ने कोरोना वायरस के इलाज के लिए फेवीपिरवीर को फैबिफ्लू ब्रांड के नाम से पेश करने की जानकारी दी। ग्लेमार्क फार्मास्युटिल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, भारत में कोरोना वायरस के मामले अब पहले की तुलना में कहीं अधिक है। इस समय हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दवाब में है।

क्लिनिकल परीक्षण में पॉजिटिव रिपोर्ट

ग्लेन सल्दान्हा ने आगे कहा कि ऐसे समय में डीसीजीआई से मंजूरी मिलना कोरोना के इलाज में मददगार साबित होगा और अस्पतालों पर दबाव को कम करने में भी काफी हद तक मदद मिलेगी। उन्होंने आगे कहा कि क्लिनिकल परीक्षणों में हमें पता चला है कि फैबिफ्लू से कोरोना वायरस के हल्के संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा सकता है, रिपोर्ट अच्छे आए हैं। इसके साथ ही यह खाने वाली दवा है जो इलाज का एक सुविधाजनक विकल्प है।

ऐसे लेनी होगी खुराक

ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, लोगों को यह दवा बाजार में आसानी से मिल सके इसलिए कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी। बता दें कि इस दवा का दाम भी तय कर दिया गया है, चिकित्सक की सलाह पर 103 रुपए प्रति टैबलेट की दर से इस दवा को खरीजा जा सकता है। कोरोना मरीजों को पहले दिन इस दवा की 1800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी, इसके बाद 2 सप्ताह तक रोजाना दिन में 800 एमजी की दो खुलाक लेनी होगी।

इन बीमारी से पीड़ित कोरोना मरीजों को दी जा सकती है दवा

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने बताया कि इस दवा को मधुमेह या दिल की बीमारी से पीड़ित कोरोना वायरस के मामूली संक्रमित मरीजों को भी दिया जा सकता है। बता दें कि शुक्रवार को एंटीवायरल ड्रग फेवीपिरवीर को मंजूरी देते हुए डीसीजीआई इसके इस्तेमाल के लिए कुछ दिशा-निर्देश तय किए हैं। डीसीजीआई ने कहा इस दवा का उपयोग केवल आपातकाल के मामले में किया जा सकता है और परिवार की सहमति अनिवार्य होगी। इसके अलावा र्स की अवधि 14 दिन है और पहले 1,000 रोगियों की स्थिति की निगरानी की जाएगी।

देश में बढ़ता कोरोना का तांडव

बता दें कि कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। शनिवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देश के अलग-अलग राज्यों में 14516 नए केस मिले, जिसके बाद मरीजों की संख्या बढ़कर 395048 हो गई। वहीं, एक दिन के भीतर कोरोना वायरस के कारण 375 लोगों की जान गई है। कोरोना वायरस से अभी तक 12948 लोगों की मौत हो चुकी है।केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने आंकड़े जारी करते हुए बताया कि अभी तक देश में कोरोना वायरस के 213831 मरीज ठीक हो चुके हैं और फिलहाल एक्टिव केस 168269 हैं।




डेस्क

No comments