Breaking News

कीचड़ भरे रास्ते से गुजरने को मजबूर गांव के लोग

 


रतसर (बलिया) विकास खण्ड गड़वार क्षेत्र  जनऊपुर में इन दिनों सड़क पर जलजमाव की समस्या से ग्रामीण जूझ रहे है। जनऊपुर (यादव बस्ती) के समीप घरों के नाबदान का पानी गिरने के कारण जलभराव हमेशा बना रहता है जो रास्ते से जाने वाले लगभग दो दर्जन से अधिक गांवों के लोगो के लिए किसी बड़ी आफत से कम नही है लेकिन राहगीर मजबूरी में कीचड़ भरे रास्ते से जान जोखिम में डालकर गुजरने को मजबूर है वहीं नाबदान का पानी एकत्र होने के कारण मच्छर जनित अनेक बीमारियों एवं दुर्गन्ध के कारण बस्ती के लोगों का जीना मुहाल हो गया है। गौरतलब है कि यादव बस्ती में नाली निर्माण का काम आधा अधूरा हुआ है इसे पूरा कराने के लिए वहां के वाशिन्दे बार-बार ग्राम प्रधान से लगायत खण्ड विकास अधिकारी के यहां परिक्रमा करते-करते निराश हो चुके है अंततः मजबूर हो कर अपने घरों के नाबदान का पानी सड़क पर गिराना शुरु कर दिया। जलजमाव के कारण सड़क पूरी तरह तालाब का शक्ल ले लिया है। जिसे पार करने के लिए राहगीरों को सोचना पड़ता है। कई लोग तो इस कीचड़ भरे रास्ते से गुजरते समय गिरकर चोटिल हो चुके है। नाली निर्माण की समस्या से बचनदेव यादव, जयनारायन यादव, राजदेव यादव, नन्दलाल यादव, सरल चौधरी आदि तमाम लोगों इस गम्भीर समस्या से निजात दिलाने की मांग शासन व जनप्रतिनिधियों से कई बार कर चुके है। इस बाबत खण्ड विकास अधिकारी विनोद मणि त्रिपाठी ने बताया कि नाली निर्माण के लिए ग्राम सभा की बैठक के द्वारा कार्ययोजना में शामिल किया गया है जैसे ही शासन से धन उपलब्ध होगा प्राथमिकता के आधार पर नाली निर्माण कराया जाएगा। ग्राम प्रधान आसमा खातुन ने कहा कि समस्या गम्भीर है लेकिन बजट के अभाव में नाली निर्माण कराना सम्भव नही है अगर बजट आता है तो इस समस्या को देखेगें।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments