Breaking News

बलिया में जमीन के एक टुकड़े के लिए हुआ रिश्ते का खून, कलयुगी बेटे ने मां को उतारा मौत के घाट



 रसड़ा (बलिया ): उत्तर प्रदेश के बलिया जनपद  के रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के परसिया गांव में शनिवार की सुबह लगभग 7 बजे कलयुगी बेटे ने सौतेली मां की जमीनी वाद विवाद में सब्जी काटने वाले धारादार पहसुल से हमला कर  लहूलुहान कर दिया ।आनन फानन में ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी  पुलिस व ग्रामीणों के सहयोग से  घायल महिला को रसड़ा सीएचसी पहुंचाया गया जहां उपचार के दौरान डाक्टर पीसी भारती ने महिला को मृत घोषित कर दिया। 

 बताते चलें कि मृत महिला हत्यारे बेटे की रिश्ते में सौतेली मां  है।कलयुगी बेटा पहली पत्नी का है ।जानकारी के अनुसार फतेहपुर में 15 वर्ष पहले सैतेली  मां के नाम से तीन डिसमिल जमीन लिया गया था उसी जमीन पर पर पिता पुत्र गिद्द निगाह गड़ाए हुए थे और उसे ना बेचना महिला को भारी पड़ा और सौतेले पुत्र महज़ तीन डिसमिल जमीन के खातिर गला काटकर हत्या कर दी ।

 पूरी घटना रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत परसिया नम्बर 2 गांव का है जहां पारिवारिक विवाद को लेकर तारा देवी उम्र 45 वर्ष पत्नी भगवान चौरसिया का धारदार पहसुल से गला काट  दिया । बताते चलें कि भगवान चौरसिया की दो शादी हुई थी पहली पत्नी के मौत के बाद 15 वर्ष पूर्व बच्चे के देखभाल के लिए दुसरी शादी विवाह किया ।  पंकज चौरसिया पहली बीवी की  संतान है ,तारा देवी से कोई संतान नहीं है। तारा देवी निवासी चिलकहर के नराव गांव  की दूसरी धर्म पत्नी है। आज से लगभग 15 वर्ष पूर्व भगवान चौरसिया ने तारा देवी के नाम से फतेहपुर में तीन डिसमिल जमीन लिया था उसी जमीन को बेचने के लिए पिता पुत्र  तारा देवी से कह  रहे थे लिहाजा शहर में 15वर्ष पूर्व जमीन सस्ता लिया गया था आज वह कई लाखों की हो गई थी लिहाजा पिता पुत्र दोनों  तारा देवी से  जमीन  बेचने को दबाव बना रहे थे पर तारा देवी  तैयार नहीं थी वह अपनी बुढ़ापे के लिए रखना चाहतीं थीं  इसी बात को लेकर शनिवार की सुबह कहां सुनीं पति पत्नी में चल रहा था तभी पत्नी ने कहां पति ना पंच चाहिए इसी बात के गुस्से में  तारा देवी को कलुयुगी बेटा पंकज चौरसिया ने पहसुल से गला काट दिया। 

हालांकि अखण्ड भारत न्यूज़ परिवार ने खबर पर सबसे पहले घटना स्थल पर पहुंचे और अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए कलयुगी बेटे से पुछा ऐसा क्या हुआ जो आप मां को काट डाला आरोपी पंकज ने बताया कि शादी के बाद से ही सौतेली मां हमारे प्रति सौतेले व्यवहार करतीं थीं व मां का सारा  गहने अपने मायके लेकर चलीं गईं थीं।और जमीन भी बेच कर अपने मायके देना चाहती थी हम और पिता दोनों चाहते थे कि फतेहपुर वाली जमीन बेचने चाहते थे ।

इस पूरी खबर अखण्ड भारत न्यूज़ संवाददाता पिन्टू सिंह ने रसड़ा कोतवाली प्रभारी निरीक्षक सौरभ कुमार राय से इस प्रकरण पर उनका पक्ष जानने के लिए पूछा तो उन्होंने बताया कि मृतक के मायके वालों की तहरीर पर पिता पुत्र को हिरासत में लिया गया है। मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया गया है।




रिपोर्ट पिन्टू सिंह

No comments