Breaking News

> > >

कोरोना संक्रमण काल में त्योहारों पर रहें होशियार, न लगाएं भीड़ : डा० रकीफ अख्तर



रतसर (बलिया)कोरोना संक्रमण के बीच कई प्रमुख त्योहारों का सीजन भी शुरु हो गया है। ऐसे में संक्रमण से बचने के लिए अपनों के साथ त्योहार मनाएं लेकिन पूरी तरह से सतर्कता के साथ क्योंकि जब से अनलाक की प्रक्रिया शुरू हुई है तब से लोग कोरोना को नजरअंदाज करने लगे है। हमें निश्चिंत नही होना है क्योंकि अभी खतरा टला नहीं है,जब तक इसकी कोई वैक्सीन नही बन जाती और बाजार मे नही आ जाती तब तक हमें सतर्क रहना होगा। यह कहना है सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रतसर के प्रभारी डा० रकीफ अख्तर का। उन्होनें बताया कि कोविड- 19 के समय से यही प्रयास है कि जन सामान्य तक विभिन्न प्रचार-प्रसार के माध्यम से कोरोना से किस तरह से बचा जाए, इसकी जानकारी पहुंचाई जा रही है। साथ ही समय समय पर लोगों को मास्क पहनने, दो गज की दूरी और हाथ धोने के बारे में जागरूक किया जा रहा है। स्वास्थ्य इकाइयों पर आने वाले लोगों को भी इस सम्बन्ध में जानकारी दी जाती है। उन्होंने बताया कि अब अनलाक की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है स्कूल कालेज भी खुल गए है, लेकिन कोविड -19 का खतरा अभी बना हुआ है। इसलिए अभी भी सतर्कता की जरूरत है। आने वाला समय त्योहारों का है। नवदुर्गा पूजा, दशहरा और दीपावली पर बाजारों में काफी रौनक रहती है लेकिन इस बार हमें आने वाले त्योहारों पर विशेष सावधानी बरतने की जरुरत है। कोशिश करे घर पर ही त्योहार मनाएं साथ ही जहां तक हो सके डिजिटल पेमेंट के विभिन्न आयामों का प्रयोग करें। सार्वजनिक स्थानों और अन्य जगहों पर बहुत ही आवश्यकता होने पर परिवार का एक ही सदस्य जाए। आपके कंधे पर पूरे परिवार को कोरोना से सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी है।

सावधानी बरते: इस त्योहारी सीजन में लोगों को सार्वजनिक स्थान,भीड़-भाड़ वाली जगह में जाने से बचना चाहिए। घर से निकलने पर मास्क का प्रयोग करे तथा किसी भी सतह को छुने के बाद हाथों को सैनिटाइजर से साफ करे या साबुन पानी से हाथों की अच्छी तरह धूले।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments