Breaking News

> > >

नारी सशक्तिकरण अभियान में सक्रियता से पीहू बनी रोल माडल







-आनलाइन वेबीनार कर आधी आबादी को कर रहीं जागरुक, घरेलू हिंसा, स्वास्थ्य व शिक्षा, मौलिक अधिकार, गुड टच, बैड टच आदि मुद्दों पर दे रहीं टिप्स


बलिया। आधी आबादी को सशक्त करने को लेकर चलाये जा रहे नारी सशक्तिकरण अभियान में वैसे तो जिले के विभिन्न विभागों में तैनात महिलाओं के अलावा सामाजिक तथा राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय महिलाएं बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही है, लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत और प्राथमिक विद्यालय, अमृतपाली की प्रधानाध्यापिका प्रतिमा उपाध्याय पीहू अपनी सक्रियता से रोल मॉडल बन कर उभरी हैं। वैसे तो पीहू परिचय की मोहताज नहीं, लेकिन समय-समय पर उनके द्वारा किए गए सामाजिक कार्य अक्सर चर्चा में रहते है, जो दूसरी महिलाओं के लिए प्रेरणश्रोत भी है। 


अपनी नवोन्मुखी प्रतिभा के कारण प्रतिमा ने शिक्षा के क्षेत्र में जहां नवाचार की पहल की और प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों के लिए पढ़ाई को बोझ की बजाए आकर्षक बनाया बल्कि प्राथमिक विद्यालय में स्मार्ट क्लास का संचालन कर गरीब तबके बच्चों को कम्प्यूटर से रुबरु कराया। साथ ही प्रोजेक्टर के माध्यम से नौनिहालों को शिक्षा देने की पहल की। इतना ही नहीं कोरोना काल में पीहू ने मेरा स्कूल-मेरा घर अभियान चला कर बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाती रही। इसके अलावा सरकार द्वारा चलाए गए पॉलिथीनरोधी अभियान, कोरोना का काल में मांस्क और बैग बनाने की कार्यशाला का संचालन, बेटी बचाओ बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, मतदाता जागरूकता अभियान और पौधरोपण अभियान में सक्रिय भागीदारी कर पीहू ने आधी आबादी के लिए न सिर्फ नजीर पेश की बल्कि साबित किया महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं हैं।


जिले में 17 अक्टूबर को जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही के तत्वावधान में कलेक्ट्रेट परिसर से महिला सशक्तिकरण का शुभारंभ किया गया।इसके उपरांत बेसिक शिक्षा अधिकारी के निर्देश के अनुसार शिक्षा विभाग की शिक्षिकाओं द्वारा मिशन शक्ति का कार्य किया जा रहा है। जिसका संचालन प्रतिमा उपाध्याय "पीहू" द्वारा किया जा रहा है, जिसमे रंजना पांडेय, सरवत अफरोज, विभा सिंह आदि महिला शिक्षकों के द्वारा प्रतिदिन ऑनलाइन वेब का आयोजन किया जाता रहा है, जिसमें प्रतिदिन अलग अलग बिंदुओं पर महिलाओं को जागरूक किया जाता हैं। घरेलू हिंसा, स्वास्थ्य व शिक्षा, मौलिक अधिकार, गुड़ टच बैड टच आदि विभिन्न मुद्दों पर प्रतिदिन बेसिक शिक्षा विभाग की महिला शिक्षकों के द्वारा चर्चा परिचर्चा करके महिलाओं के उत्थान के बारे में कार्य किये जा रहा है । 





रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments