Breaking News

अजब प्रेम की गजब कहानी: जब पत्नी ने छोड़ा साथ तो पति ने खाया जहर



बलिया। लाकडाउन के कारण पति के बेरोजगार होने पर पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गई। पत्नी के वियोग में पति ने आत्महत्या करने के लिए जहर खा लिया। हालत ज्यादा खराब होने पर रेलवे स्टेशन पर अचेत हो गया। रेलवे पुलिस के जवानों ने उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। 


गाजीपुर के करीमुद्दीनपुर गांव निवासी सुदामा यादव (38) नौ वर्ष पूर्व परिवार के खिलाफ पिलुई निवासी कंचन से लव मैरिज शादी की। उसके बाद पत्नी के साथ हंसी खुशी हरियाणा के सोनीपत में प्राइवेट नौकरी करता था। इस बीच दोनों से एक लड़का भी हुआ। लाकडाउन के कारण कम्पनी बंद होने के कारण सभी घर आ गए। इस बीच पैसों के तंगी शुरू हो गई। जिसके बाद पति पत्नी में आए दिन विवाद होने लगा, कंचन ससुराल में रहने के लिए तैयार नही थी। सुदामा के लाख मनाने के बाद भी वह अपने भाई के यहां चली आई जो शहर के किसी मोहल्ले में किराए के कमरे में रहते है, सुदामा ने कई बार पत्नी को फोनकर मिलने की बात कही लेकिन पत्नी ना उससे मिल रही थी न कमरे का पता दे रही थी।


 इससे सुदामा परेशान था, वह पैसा कमाने के लिए वापस सोनीपत जाने के लिए तत्काल टिकट के लिए कई दिनों से चक्कर लगा रहा था। गुरुवार को उसका तीसरा नम्बर था उसके बाद भी टिकट नही मिला। जिसके बाद वह पत्नी को फोन कर मिलने की बाद कही पत्नी का मोबाइल बंद होने के कारण वह मानसिक परेशान हो गया और शहर स्थित एक दवा दुकान से कीटनाशक दवा खरीद कर पी लिया । हालत ज्यादा खराब होने पर स्टेशन परिसर में बेहोश हो गया।




रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments