Breaking News

> > >

मां बेटी की हत्या में पुत्र के तहरीर पर चार के विरुद्ध मुकदमा, पुलिस अन्य विंदुओ पर भी कर रही जांच



बेल्थरारोड, बलिया। भीमपुरा थाना क्षेत्र के अहिरौली में मां बेटी की नृशंस हत्या के मामले में मृतक महिला के पुत्र ने पड़ोसियों पर पुराने विवाद को लेकर चार लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। तहरीर पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर घटना की जांच शुरु कर दी है। पुलिस इस मामले में तहरीर के अलावे अन्य विंडुओ को भी केंद्र में रखकर जांच कर रही है। इस मामले में पुलिस ने नामजद सहित कुछ अन्य को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

              भीमपुरा थाना क्षेत्र के अहिरौली में गुरुवार की रात 55 वर्षीय सुरजावती देवी व उसकी पुत्री 22 वर्षीय रानी की किसी हथियार से सिर पर प्रहार कर हत्या कर दी गयी थी। दोनों का शव अलग अलग चारपाई पर रजाई ओढ़े हुए मिली। इस मामले की सूचना पाकर महिला के पति वीरेंद्र व पुत्र शुक्रवार की देर शाम पहुँचे। महिला के पुत्र जयराम कुमार ने अपने पड़ोसियों पिता व तीन पुत्रों के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। पुराने किसी विवाद को लेकर माँ और बहन की हत्या का आरोप उसने पड़ोसियों पर लगाया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पड़ोसियों की धर पकड़ शुरु कर दी। साथ ही घटना के अन्य पहलुओं को ध्यान में रखकर आरोपियों सहित लगभग आधा दर्जन लोगों को पकड़कर पूछताछ में जुटी हुई है।

                   

घटना का शीघ्र होगा खुलासा : डीआईजी


बेल्थरारोड, बलिया।मां बेटी की हत्या की जानकारी होने के बाद घटना स्थल पर शनिवार को पहुँचे डीआईजी सुभाष चन्द्र दुबे ने पत्रकारों को बातचीत के दौरान बताया कि मां बेटी की हत्या में नामजद तहरीर मिली है। चारों आरोपियों को पकड़कर पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा अन्य पहलुओं पर भी जांच की जा रही है ताकि कोई निर्दोष न फॅसे। जल्द ही घटना का पटाक्षेप हो जाएगा। इस दौरान पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र नाथ व क्षेत्राधिकारी रसड़ा मौजूद रहे।


मां बेटी की हत्या से पुलिस महकमा हलकान


बेल्थरारोड, बलिया। भीमपुरा थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव में माँ और बेटी की हत्या की सूचना के बाद पूरा पुलिस महकमा हलकान रहा। घटना की सूचना के बाद मौके पर एसओजी व फ़ॉरेंसिक टीम तुरन्त पहुंच गयी। देर शाम पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र नाथ भी मौके पर पहुंच गए और घटना दूसरे दिन तक डटे रहे। कभी घटना स्थल तो कभी थाना मुख्यालय से जांच में लगी टीमों की मॉनिटरिंग कर रहे थे। घटना के दूसरे दिन डीआइजी आजमगढ़ भी मौके पर पहुँचकर घटना की जानकारी मातहतों से ली।

                                 

संतोष द्विवेदी

No comments