Breaking News

डाँ० भीम राव अम्बेडकर की 130 वी जयन्ती के अवसर पर "डॉ. अंबेडकर के दृष्टि में समतामूलक समाज" नामक संगोष्ठी का आयोजन

 


मनियर (बलिया) डॉ. अंबेडकर प्रज्ञा प्रवाह समिति मनियर के तत्वाधान मे  बुधवार को डाँ० भीम राव अम्बेडकर की 130 वी जयन्ती के अवसर पर  "डॉ. अंबेडकर के दृष्टि में समतामूलक समाज" नामक संगोष्ठी स्थानीय कस्बा के  एक  मैरिज हॉल में  आयोजित की गई।लोगों ने बाबा साहब के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दिया। तत्पश्चात वक्ताओं ने बाबा साहब के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला। कहा कि बाबा साहब महान राष्ट्रभक्त एवं समाज सुधारक थें। सिंबल ऑफ नॉलेज के रूप मे सामाजिक, राजनीतिक,धार्मिक, शैक्षणिक,आर्थिक, औद्योगिक एवं संवैधानिक आदि क्षेत्रों में अनेकों महत्वपूर्ण कार्य किए। बाबा साहेब आज नौजवानों के लिए प्रेरणा के केंद्र बने हुए हैं, जिन्होंने शस्त्र के बल पर नहीं बल्कि शिक्षा (कलम) के बल पर कृतिमान स्थापित किया। छुआछूत, जात-पात सामाजिक एवं धार्मिक अंधविश्वास, पाखंड आदि के विरुद्ध कड़ा संघर्ष किया और इसके विरुद्ध संवैधानिक अधिकार प्रदान किए जाने में सफलता भी  प्राप्त किया।बाबा साहब त्याग, साहस के प्रतिमूर्ति थे। बाबा साहब को पाकर भारत पूरी दुनिया में सम्मानित हुए ।पूरी दुनिया के लिए वे सूर्य हैं।उनके बताए रास्ते पर चलाना ही उनके लिएसच्चीश्रद्धांजलि होगी।वे महावाक्य "शिक्षित बनो,संगठित हो और संघर्ष करो" पर चलकर ही समाज एवं राष्ट्र को मजबूत बनाया जा सकता है।समानता,स्वतंत्रता,न्याय एवं बंधुत्व पर आधारित समरस एवं समृद्धशाली समाज व राष्ट्र निर्माण के वे प्रबल पक्षधर थे।

गोष्टी को डां.जगदीश रावत ,रविंद्रसिंह,डॉ.विनोद उपाध्याय,वीरेंद्र सिंह, प्रभुनाथ उपाध्याय , मदन सिह ,  पुरंजय शर्मा, ,घुरा पटेल,उमेश राय, संजय चौहान , पिंटू वर्मा, कृष्णा प्रसाद,डॉ. राकेश कुमार रावत, विशाल कुमार भारती,खड्ग बहादुर रावत,अन्टू सिंह, मुन्ना भारती आदि लोगों ने संबोधित किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता शिव नारायण राय एवं संचालन डां.जगदीश रावत ने किया।



राममिलन तिवारी

No comments