Breaking News

नगरा बाजार में नहीं हो रहा है कोरोना गाइड लाइन का पालन, पुलिस बनी मूकदर्शक

 


बेल्थरारोड, बलिया। वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण बढ़ता जा रहा है। स्कूल, कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। दुकानें सुबह सात बजे से शाम आठ बजे तक ही खुली रहेगी। कोरोना को लेकर सरकार की ओर से गाइड लाइन जारी किए गए हैं लेकिन नगरा बाजार व क्षेत्र में इसका पालन ठीक से नहीं हो रहा है। नगरा बाजार में तो इसकी खुलकर धज्जियां उड़ रही हैं। यहां सवारी वाहनों पर कोरोना गाइड लाइन का कहीं से भी पालन नहीं हो रहा है। शासन के निर्देश के बावजूद क्षमता से अधिक यात्री बैठाए जा रहे हैं। न इन वाहनों को सैनिटाइज किया जाता है और न ही क्षमता से आधे यात्रियों को बैठाया जाता है। पुलिस पंचायत चुनाव का बहाना बनाकर मूकदर्शक बनी हुई है। ऑटो चालक तो अधिक से अधिक पैसा कमाने के लालच में कोरोना नियमों की खूब धज्जियां उड़ा रहे हैं। अधिकांश चालक और यात्री बिना मास्क के सफर कर रहे हैं। यही स्थिति बाजार में स्थित दुकानों की है। बाजार के लगभग 90 फीसदी दुकानों खासकर किराना व सब्जी की दुकानों पर कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। अधिकांश दुकानदार या तो मास्क नहीं लगा रहे है या फिर मास्क गले में लटका कर ग्राहकों को सामान दे रहे है।ग्राहक भी बिना मास्क और दो गज दूरी के नियमों का उल्लंघन करते नजर आ रहे है। दुकानों पर सैनिटाइजर केवल दुकानदार के उपयोग के लिए ही रखा गया है।कोरोना की दूसरी लहर अधिक खतरनाक माना जा रहा है। फिर भी लोग सचेत नहीं हैं।कोरोना गाइड लाइन का कहीं से भी पालन होता नहीं दिख रहा है।अधिकांश लोग खासकर युवा व किशोर बिना मास्क पहने ही घूमते नजर आ रहे है। जबकि कोरोना गाइड लाइन में मास्क को लेकर स्पष्ट उल्लेख है। जनपद में कोरोना पीड़ितो की संख्या बढ़ती जा रही है। कुछ पीड़ित काल कवलित भी हो चुके है।



मतगणना एजेंट बनने के लिए कोरोना जांच हेतु पीएचसी पर जुटी भीड़


बेल्थरा रोड, बलिया।मतगणना एजेंट बनने के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता की जानकारी होते ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एजेंट बनने का ख्वाब देख रहे लोगो की लंबी कतारें लग गई। पीएचसी के बाहर व भीतर सैकड़ों लोग कड़ी धूप में खड़ा होकर अपनी बारी का इंतजार करते दिखे।

           मतगणना एजेंट बनने के लिए कोरोना निगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करना है। जो जांच रिपोर्ट नहीं प्रस्तुत करेगा,उसे मतगणना में जाने के लिए पास नहीं मिलेगा। ऐसा आदेश जारी होते ही जिला पंचायत सदस्य से लेकर ग्राम पंचायत सदस्य तक के उम्मीदवारों एवं उनके समर्थकों में कोरोना जांच करान के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भीड़ लग गई। पीएचसी पर जांच हेतु आए लोगो में अधिकांश लोग मास्क विहीन थे, वहीं शारीरिक दूरी की भी धज्जियां उड़ गई

                                

संतोष द्विवेदी

No comments