Breaking News

Akhand Bharat

राजकीय आयुर्वेदिक अस्पताल में किसी चिकित्सक की तैनाती नहीं होने से क्षेत्रीय लोगों में बढ़ रहा आक्रोश

 


बलिया। एक तरफ जहां कोरोनावायरस के संक्रमण के प्रसार को देखते हुए अब सरकार भी आयुर्वेदिक औषधियों तथा जड़ी बूटियों के काढ़ा के प्रयोग पर जोर दे रही है, ताकि लोगो को इस वैश्विक महामारी से बचाया जा सके। 

वहीं दूसरी तरफ राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय शिवपुर दियर व्यासी विगत कई महीनों से फार्मासिस्ट तथा वार्ड बॉय के सहारे चल रहा है।प्रभारी चिकित्सा अधिकारी रहे डॉक्टर सतीश कुमार उपाध्याय पिछले वर्ष 31 मई को रिटायर हो गए इसके बाद किसी चिकित्सा अधिकारी की तैनाती नहीं की गई है विभागीय अधिकारियों ने बताया था कि नई तैनाती मिलने वाले चिकित्सकों में से किसी की तैनाती शहीद मंगल पांडे स्मारक नगवा में चलने वाले इस आयुर्वेदिक अस्पताल में की जाएगी परंतु जिला मुख्यालय पर बैठे क्षेत्रीय आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी ने ऐसा करना उचित नहीं समझा।  

उक्त चिकित्सालय पर चिकित्सक की नियुक्ति न होने से इलाके के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में समाजवादी युवजन सभा के जिला महासचिव नितेश पाठक ने संबंधित अधिकारियों एवं जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए मांग किया है कि तत्काल उक्त चिकित्सालय पर चिकित्सक की तैनाती की जाए, ताकि क्षेत्रीय लोगों को स्वास्थ्य लाभ मिल सके।उन्होंने कहा कि इस वैश्विक महामारी में भी चिकित्सालय पर चिकित्सकों की नियुक्ति ना होना सरकार की नाकामियों को प्रदर्शित कर रहा है।


रिपोर्ट:-धीरज सिंह

No comments