Breaking News

अहम के चलते एक दशक से नही सुलझ रहा है मरौटी में एक दशक से चल रहा रास्ते का विवाद

 


रेवती (बलिया ) स्थानीय ब्लाक के भैसहां ग्राम पंचायत अंतर्गत मरौटी गांव में आपसी वर्चस्व व अहम के चलते  एक दशक से चला आ रहा रास्ते का विवाद नही सुलझ पाया है। नव निर्वाचित ग्राम प्रधान मुन्ना राजभर के समझ इस मामले का समाधान कराना चुनौती से कम नही है कार्य । 

सन 1908 में सरयू नदी के कहर से तिलापुर में टीएस बंधा लगभग 100 मीटर की लंबाई में कट गया। जिसके चलते शिवपुर दतहाँ के सैकड़ों परिवार विस्थापित हो अन्यत्र बस गये । इसमें से पचासो परिवार मरौटी मे जमीन क्रय कर बस गये । तीन दर्जन परिवार अपने लिए रास्ता का प्रबंध कर लिए किन्तु रेवती  दतहाँ मार्ग से हरेराम यादव व लाला बीन के घर के बीच से हरेराम बीन के घर तक अगल बगल डेढ दर्जन परिवारों की बस्ती है। आज एक दशक से इनको अपने घरों में आने जाने के लिए एक अदद रास्ता भी नही बन पाया है। जो वर्तमान में रास्ता है आपसी विवाद के चलते बीच मे दो से अढाई फुट की दिवाल खड़ी कर दी गई है । 

बरसात में लोगो के घरो मे पानी प्रवेश कर जाता है । खेती , मजदूरी व मवेशी पर आश्रित इन लोगो को अपने घर तक आने जाने काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है । दतहाँ के प्रधान राकेश यादव , भैसहा के पूर्व प्रधान बरमेश्वर चौधरी के लाख प्रयास के बावजूद रास्ते के विवाद का समाधान आज तक नही हो पाया। इस मामले को लेकर आपस में कई बार मारपीट की घटना भी हो चुकी है । अब नये प्रधान के समझ रास्ते का विवाद सुलझाना चुनौती से कम नही है है इसे संभव कर पाना । 

--------------

रास्ते के विवाद को सुलझाने का होगा प्रयास - प्रधान 

रेवती

इस संबंध में नव निर्वाचित प्रधान मुन्ना राजभर ने बताया कि ग्राम पंचायत सदस्यों का दो तिहाई चुनाव पूर्ण नही होने से शपथ नही हो पाया है । शपथ ग्रहण के बाद रास्ते के विवाद को आपसी सहमति से सुलझाने का हर संभव प्रयास करूगा।

------

पुनीत केशरी

No comments