Breaking News

रतसर - सुखपुरा नहर माइनर के टूट जाने से सैकड़ों एकड़ धान की फसल डूबी

 


रतसर (बलिया) गड़वार विकास खण्ड के जनऊपुर (अम्बेडकर स्थान के समीप) रविवार की रात रतसर - सुखपुरा नहर माइनर के टूट जाने से सैकड़ों एकड़ धान की फसल डूब गई है। इसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा रात में ही विभाग को देने के बावजूद कोई जिम्मेदार मौके पर नही पहुंचा, इसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों के मुताबिक रजवाहा के टूट जाने से पानी की धारा बहने लगी। इसकी जानकारी खेत की तरफ गए किसानों को हुई तो वह बांधने का प्रयास किए लेकिन सफलता नही मिली। धीरे-धीरे दो मीटर से अधिक चौड़ाई में रजवाहा के टूट जाने से पानी सीधे खेतों में जाने लगा। शाम तक आस-पास के सैकड़ों एकड़ फसलें जलमग्न हो गई। गांव के किसान मुन्नीनाथ, सुरेन्द्र राम, सुदर्शन राम, उतिल गोड़, करीमन राम ने बताया कि बीते सप्ताह ही धान की रोपाई कराई गई है। पौधे छोटे-छोटे है। नहर विभाग के लापरवाही से किसान आक्रोशित है। बताते चलेकि विगत दो वर्षो से इसी स्थान पर बार-बार टुट जाने के कारण सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद हो गई थी। किसानों ने प्रशासन से मांग की है कि नहर विभाग द्वारा इस जगह पर पक्का निर्माण कराया जाए। इस बावत नहर विभाग के अधिशासी अभियन्ता सी.बी. पटेल ने बताया कि मामला संज्ञान में है तत्काल प्रभाव से उसकी मरम्मत कराई जाएगी साथ ही मनरेगा के तहत पक्का निर्माण के लिए शासन को भेजने की कवायद की जा रही है।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments