Breaking News

जुग-जुग जियस ललनवा ... की अनुगूंज से आस्था के सागर में डूबे लोग,कई स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का किया गया आयोजन

 



रतसर (बलिया )रतसर कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्रो में सोमवार के दिन श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को लेकर पूरे दिन लोग आस्था में डूबे रहे। इसी क्रम में जनऊपुर गांव स्थित मठिया मंदिर  पर परशुराम युवा मंच के सदस्यों द्वारा पूरे मंदिर को बहुत ही आकर्षक ढंग से सजाया गया था । जिसके कारण मंदिर आकर्षण का केंद्र बना रहा। तत्पश्चात सोमवार की रात 12 बजे भगवान श्री कृष्ण ने जन्म लिया। जन्म लेते ही लोगों ने भगवान श्री कृष्ण व राधा के जयकारे लगाए। इस दौरान महिलाओं ने जुग-जुग जियस ललनवा ...। नन्द बाबा के घर बाजे बधइयां ... आदि सोहर गीत गाए। सर्वत्र घंटा घड़ियाल गुंजने लगे। भए प्रकट कृपाला की अनुगूंज सर्वत्र सुनाई देने लगी। बच्चे व युवाओं ने थालियां बजाकर जन्मदिन की बधाई दी।

साथ ही ग्रामीण क्षेत्रो के विभिन्न मंदिरों पर युवाओं द्वारा जन्माष्टमी को लेकर पंडाल बनाये गए।वही कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्रो के काफी संख्या में महिलाएं व पुरुष जन्माष्टमी को लेकर पूरे दिन उपवास रहे और विधि विधान के साथ भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना की गई वहीं रात में भगवान कृष्ण के जन्म के समय कई स्थानों पर विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए किया गया है। इस अवसर पर सक्षम पाण्डेय, राकेश पाण्डेय,पं०राम कुमार शास्त्री, पुन्नू शर्मा समेत अन्य मौजूद रहे।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments