Breaking News

Akhand Bharat

14 साल बाद आस्ट्रेलिया ने जीता पहला टी-20 विश्व कप

 




नई दिल्ली। यूएई में खेले गये टी20 विश्वकप का फाइनल मैच दुबई के मैदान पर न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम के बीच खेला गया, जहां पर दोनों टीमें अपने पहले टी20 विश्वकप खिताब की तलाश में उतरी थी। हालांकि यह सपना किसी एक ही टीम का पूरा होना था जिसमें वनडे प्रारूप की सबसे कामयाब टीम और सबसे ज्यादा बार विश्वकप जीतने वाली टीम ऑस्ट्रेलिया ने बाजी मारी और 8 विकेट से मैच जीतकर 14 साल के लंबे इंतजार को खत्म कर दिया। ऑस्ट्रेलिया की टीम ने वनडे प्रारूप में अब तक 5 बार खिताब को अपने नाम किया है जबकि 2 बार उपविजेता रही, ऐसे में जब 2007 में टी20 प्रारूप के विश्वकप की शुरुआत हुई तो शायद ही किसी को लगा होगा कि ऑस्ट्रेलिया को अपने पहले खिताब की जीत के लिये 14 लंबे सालों का इंतजार करना पड़ेगा।

ऑस्ट्रेलिया की टीम साल 2010 में पहली बार इस प्रारूप के फाइनल में पहुंची थी लेकिन इंग्लैंड की टीम ने उस मैच में बाजी मारकर खिताब अपने नाम किया था और कंगारू टीम से खिताब को दूर कर दिया। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया को दोबारा फाइनल में पहुंचने के लिये 11 सालों का इंतजार करना पड़ा। लेकिन इस बार जब कंगारू टीम वहां पर पहुंची तो ऑस्ट्रेलिया ने मौका नहीं छोड़ा और आसानी से जीतकर खिताब अपने नाम कर लिया।

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया और गेंदबाजों के दम पर अच्छी शुरुआत भी की, हालांकि कीवी टीम के लिये केन विलियमसन संकटमोचक बनकर उतरे और 48 गेंदों में 85 रनों की पारी खेलकर टीम को 172 रन के स्कोर पर पहुंचा दिया। ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिये निर्धारित 20 ओवर्स में 173 रनों की दरकार थी, और कीवी टीम ने अच्छी शुरुआत करते हुए पहले ओवर में सिर्फ एक ही रन दिया। वहीं तीसरे ओवर में ट्रेंट बोल्ट ने एरॉन फिंच को बोल्ड कर पहला झटका दिया। कीवी टीम को यहां पर भले ही एरॉन फिंच का विकेट मिल गया लेकिन कंगारू टीम बैकफुट पर जाने के बजाय अटैकिंग खेलने लगी और मिचेल मार्श-डेविड वॉर्नर की पारी के दम पर मैच को एकतरफा कर दिया।


डेस्क

No comments