Breaking News

Akhand Bharat

पेपर लीक मामले में साजिशन जेल भेजे गए पत्रकार जल्द हो रिहा- अनुराग


 

सुल्तानपुर।यूपी बोर्ड परीक्षा में अंग्रेजी विषय का प्रश्नपत्र लीक मामले में बलिया जिला प्रशासन साजिशन अफसरों व कर्मियों को बचा रहा है। वही सूचना देने वाले तीन पत्रकारों को गिरफ्तार जेल भेज दिया गया।जिससे प्रदेश भर के पत्रकारों में बलिया जिला प्रशासन के प्रति आक्रोश व्याप्त है।तब से सैकड़ों पत्रकार आंदोलनरत है।जल्द से जल्द तीनो पत्रकारों को रिहा न किया गया तो यह शांति रूप से दिया गया ज्ञापन जिले में ही नही प्रदेश व देश में बड़ा रूप ले लेगा।फिर इस आक्रोश को संभाल पाना मुश्किल होगा।

   बुधवार को भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष अनुराग द्विवेदी ने बताया कि बलिया प्रशासन के खिलाफ पूरे प्रदेश के सभी जिले,तहसीलों में सीएम को संबोधित ज्ञापन दिया गया है।यहां पर डीएम रवीश गुप्ता को जिलाध्यक्ष अनुराग द्विवेदी की अगुवाई में ज्ञापन दिया गया।श्री द्विवेदी ने कहा कि डीएम ने डिटेल मांगी बाद में तीनो पत्रकारों को आरोपी बनाकर जेल भेज दिया गया।इसकी घोर निन्दा की जाती है।ऐसे में जल्द से जल्द रिहा किया जाय।अन्यथा आंदोलन को धार दिया जायेगा।मन बढ़ बलिया के डीएम व एसपी के खिलाफ जांच कराकर कार्यवाही की जाय।वही निर्दोष पत्रकार अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह और मनोज गुप्ता को तत्काल रिहा करने, प्रदेश में पत्रकार उत्पीड़न की बढ़ रही घटनाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने, उप्र में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने, विभिन्न समाचार पत्रों/ चैनलों / मीडिया संस्थानों में कार्यरत पत्रकारों को शासन स्तर से सूचीबद्ध करने, उप्र की प्रेस मान्यता नियमावली में संशोधन करके उसमें पत्रकारों की सुरक्षा के लिए उपबंध शामिल करने, उप्र में पत्रकार आयोग गठित करते हुए भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ को प्रतिनिधित्व दिलाने के साथ ही उप्र में किसी भी पत्रकार को किसी प्रकरण में कथित रूप से संलिप्त पाए जाने पर तब तक उसकी गिरफ्तारी न की जाए जब तक कम से कम एसडीएम/सीओ स्तर से उसकी जांच पूरी न कर ली जाए। इस मौके पर संगठन के  सत्य देव तिवारी, अशोक मिश्र,बृजेश उपाध्याय,श्रवण पांडेय,अशोक शुक्ल,पवन मिश्र,सुनील राठौर, डा.अजय सिंह,कृष्ण कुमार बबलू,पुष्पेंद्र तिवारी,अरुण मिश्र ,कमलेश श्रीवास्तव, अंजनी तिवारी,अनुज तिवारी,महेंद्र कुमार,अख्तर अली,इंद्रसेन दुबे,धर्मेंद्र कुमार, आदि उपस्थित रहे।


रिपोर्ट  त्रयंबक पांडेय गांधी

No comments