Breaking News

Akhand Bharat

मिट्टी का अवैध खनन गोपालनगर टाडी जैसी स्थिति का कारण बन सकती हैं तिलापुर में

 


रेवती - बलिया : टीएस बंधा के डेन्जर जोन तिलापुर और रतिछपरा ढ़ाला के बीच करीब एक किमी के परिधि में फल्ड जोन में सरयू नदी के मुहाने के समीप मिट्टी का अवैध खनन भविष्य के लिए खत्तरे की घंटी के समान है। कही गोपालनगर टाडी जैसी स्थिति न बन जाए इसको लेकर तटवर्ती ग्रामीण दहशत में हैं। 

बताया जाता है कि दत्तहा और तिलापुर के बीच चल रहे प्रोजेक्ट के कार्य में स्पर के पास जीओ बैग आदि में मिट्टी भर कर पीचिंग करने का कार्य किया गया। भूमि नदी में विलीन होने की आशंका से तटवर्ती कास्तकारो ने मिट्टी कटवाना शुरु किया। संबंधित ठेकेदारो को नजदीक ही मिट्टी मिलने से इसका पूरा फायदा उठाया। ताज्बूब की बात यह है कि उक्त मामले में, राजस्व,खनन विभाग,पुलिस और सिंचाई विभाग ने कभी हस्तक्षेप नही किया। नतीजा यह है कि रति छपरा ढ़ाला से उत्तर फल्ड जोन में शिवपुर सेमरा रिंग बंधे के समीप नदी के मुहाने से 150 मीटर लंबा, 15 मीटर चौड़ा तथा 5 मीटर गहरा मिट्टी का अवैध खनन  गंभीर खत्तरे का संकेत दे रहा है। इस स्पाट से पश्चिम बंधे के 70,200 कि मी के समीप छोटे बड़े आधा दर्जन गढ्ढ़े अवैध मिट्टी खनन की राम कहानी बयान कर रहे है। 

तटवर्ती ग्रामीणों का कहना है कि अभी सरयू नदी का पानी खतरे के निशान से नीचे हैं। नदी का जल स्तर बढने पर पानी बंधे तक सट जाता है। सरयू के उफान पर नदी , मिट्टी का अवैध खनन किये गये गड्ढो को काटती हुई कहीं बंधे के लिए संभावित खतरे का कारण न बन जाए ।


पुनीत केशरी

No comments