Breaking News

Akhand Bharat

जानें कहां सुभाष चंद्र बोस की मनाई गई जयंती


 


बलिया (गड़वार) गड़वार स्थित एपेक्स स्कूल पर नेता जी सुभाष चन्द्र की जयंती मनाई गई विद्यालय के प्रबंधक इंजीनियर धनंजय उपाध्याय जी और विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती प्रतिमा उपाध्याय जी द्वारा नेता जी के चित्र पर मालयार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया कार्यक्रम में मुख्य वक्ता आरएसएस के मंडल कार्यवाह सतीश उपाध्याय ने कहा कि भारतीय स्वाधीनता के संग्राम में अतुल्य योगदान देने वाले सुभाषचंद्र बोस की जयंती 23 जनवरी को  पूरा भारत वर्ष पराक्रम दिवस के रूप में मनाता है आजाद हिंद फौज एवं आजाद हिंद सरकार की स्थापना करने वाले सुभाषचंद्र बोस आज भी भारतीय युवाओं के लिए आदर्श हैं.

सुभाष बाबू ने पूर्ण स्वराज के लिए अंग्रेज ईसाई सत्ता के विरुद्ध संघर्ष किया और इस बात पर बल दिया कि अहिंसा से स्वतंत्रता नहीं पाई जा सकती.

'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा', का नारा देने वाले सुभाषचंद्र बोस ने दिसंबर 1943 को पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा ध्वजारोहण कर उसे ब्रिटिश कब्जे से मुक्त घोषित कर दिया था. 

नेता जी के मृत्यु को लेकर आज भी विवाद है जहा जापान में प्रति वर्ष 18 अगस्त को उनका शहीद दिवस धूमधाम से मनाया जाता है  भारत के प्रधानमंत्री जी द्वारा 8 सितम्बर 2022 को नई दिल्ली में राजपथ, जिसका नामकरण कर्तव्यपथ किया गया है , पर नेताजी की विशाल प्रतिमा का अनावरण किया गया था।

कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र प्रताप सिंह जी ने उपस्थित सभी अतिथि गणों का आभार ज्ञापित किया । इस अवसर पर विद्यालय के सभी शिक्षक , शिक्षिकाओं सहित हजारों की संख्या में बच्चे उपस्थित रहे।


रिपोर्ट पीयूष श्रीवास्तव

No comments