Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान 01 से 31 जुलाई व दस्तक अभियान 11 से 31 जुलाई 2024 के सफल क्रियान्वयन हेतु जिलाधिकारी ने की बैठक



शत्-प्रतिशत अभियान को सफल बनाने के लिए सभी संबंधितों की होगी अहम भागीदारी- डीएम


बलिया। जिलाधिकारी रवींद्र की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं घर- घर दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु अंतर्विभागीय जिला स्तरीय बैठक संपन्न हुई। इस बैठक में जिले में संचारी अभियान के तहत होने वाली कार्रवाइयों के बारे में बताया गया। 01 से 31 जुलाई 2024 तक  विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा 11 से 31 जुलाई 2024 के मध्य दस्तक अभियान चलाया जाएगा। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने संचारी रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए पूरी तैयारी समयबद्ध ढंग से किए जाने के निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि मलेरिया, फाइलेरिया,डेंगू,कालाजार,चिकनगुनिया, डायरिया आदि संचारी रोगों से जुडे़ मामलों की आशंका को देखते हुए जनपद में अन्तर्विभागीय समन्वय से युद्धस्तर पर अभियान को आगे बढ़ाया जाए। 


 जिलाधिकारी ने शहरी क्षेत्रों में अधिशासी अधिकारी और ग्रामीण क्षेत्रों में खंड विकास अधिकारी को सैनिटाइजेशन तथा फॉगिंग  तालाबों, नालों व नालियों में एण्टी लार्वा का छिड़काव व उनकी बेहतर साफ सफाई,खुली नालियों को ढकने, उथले हैंडपंप को चिन्हित करने सड़क के दोनों और सड़क के दोनों ओर दो फुट तक झाड़ियों की साफ सफाई तथा जल भराव की समस्या का समाधान कराने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक और बेसिक शिक्षा अधिकारी को संचारी रोग के बारे में बच्चों को जागरूक करने एवं कृषि विभाग के अधिकारी को खासकर झाड़ियों में रहने वाले चूहे व छछूंदर के काटने से होने वाले स्क्रब टायफस (बुखार) के प्रति भी जागरूक करने पर विशेष बल दिया।


 जिलाधिकारी ने सम्बन्धित विभागों से संचारी रोगों के नियंत्रण व रोकथाम के सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की। साथ ही उन्होंने चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नगर विकास, पंचायतीराज, आई0सी0डी0एस0, शिक्षा, कृषि, पशुपालन, खाद्य एवं औषधि प्रशासन तथा अन्य सभी सबंधित विभाग को स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय बनाकर संचारी रोगों की रोकथाम व नियंत्रण के संबंध में कार्यवाही करने का निर्देश दिया।


जिलाधिकारी ने सभी से अनुरोध किया कि जिस विभाग की जो भी कार्ययोजना है उसी के अनुसार कार्य संपादित कराएगा। इसलिए सभी विभाग अपना माइक्रो प्लान तैयार कर लें। उन्होंने संचारी रोग से सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को गंभीर हो जाने का निर्देश दिया। कहा कि इसकी रोकथाम के लिए शीघ्र टीम बनाकर उस क्षेत्र में जनजागरूकता व अन्य गतिविधियां युद्धस्तर पर संचालित की जाए।इस बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विजयपति द्विवेदी, सीएमएस डॉ सुजीत कुमार यादव, परियोजना निदेशक उमेश मणि त्रिपाठी, जिला मलेरिया अधिकारी सुनील यादव, जिला सर्विलांस ऑफिसर अभिषेक मिश्रा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।



By- Dhiraj Singh

No comments